Tuesday, July 5, 2022
More

    ये लेख आज सड़क पर आए छात्रों और माता पिता के लिए है, पढ़ें और गिरेबान में झांकें

    बताया था आपसे पकौड़े तलने की तैयारी कराई जा रही है
    बताया था आपके भविष्य को धर्म की फाँसी लगाई जा रही है
    बताया था आपके घर में पढ़े लिखे अनपढ़ बनाए जा रहे हैं
    बताया था आपके ड्राइंग रूम में नफ़रत का नशा फैलाया जा रहा है

    हमने बताया था आपसे हर आँकड़ा छिपाया जा रहा है
    आपको बताया था चुनाव आते ही आपको लड़ाया जा रहा है
    आपको पहले ही बताया था आपके सोचने की शक्ति छीनी जा रही है
    आपको बताया था आपके बच्चों पर आफ़त आने वाली है
    आपको बार बार बताया था धर्म की अफ़ीम चाटकर दे़श बर्बाद कर रहे हैं

    आपको बताया था भ्रम है कि आप सुरक्षित हैं
    आपको बतालाया था किसी के कपड़े पहनावे खान पान से डराके आपका ध्यान भटकाया जा रहा है
    आपको हिटलर का किया कराया बताकर बर्बाद हुआ जर्मनी बार बार याद दिलाया था

    आपको बताया था वो दौर दोहराया जा रहा है
    आपको बताया था जर्मन भी आप ही की तरह फँस गए थे
    आज तक शर्मिंदा हुई हर नस्ल घूम रही है
    आपको चीख चीखकर बताया था टीवी की चीखों में देश की आवाज़ दबाई जा रही है
    आपको बताया था आज उनके पीछे कल आपके पीछे आने वाले हैं

    बहुत ज़िम्मेदारी से बताया था ज़िम्मेदार बन जाइए नहीं तो जीना हराम करा लीजिए
    आपको तबीयत से बताया था आपके सवाल से ही वो डरते हैं
    आपको बड़े चाव से बताया था आँखें खोल लो इससे पहले वो बंद कर दें

    मुँह खोलना सीख लो इससे पहले वो सिल दें
    रीढ़ बना लो इससे पहले वो निकाल दें
    दिमाग़ की बत्ती जला लो इससे पहले वो लकवा मार दें
    उठना सीख लो इससे पहले वो गिरा दें
    पढ़ने की आदत डाल लो इससे पहले वो अनपढ़ बना दें
    लिखना जान लो इससे पहले वो हाथ काट दें
    सोचना सीख लो इससे पहले वो सोच पर ही पाबंदी लगे दें
    ज़बान सही काम में लाओ इससे पहले वो ये करा लें
    उनपर मत हंसो कल वो तुम पर हँसेंगे

    उन्हें ग़द्दार मत बोलो कल तुम भी ग़द्दार हो जाओगे
    औरों की पीड़ा पर यूँ न उछलो कि कल खुद उछलने लायक़ न रहो
    अब भी सबक ले लो वरना बच्चों के बाद पोते पोतियों का भविष्य भी बर्बाद कर दोगे
    नफ़रत का खाना परोस तो दिया पर बड़े होते बच्चों को जिस दिन उसमें डाले जहर का कड़वा स्वाद समझ में आ गया
    प्रेम से खाना कैसे बनाते हैं वो खुद ही सिखा देंगे
    अरे न न मुँह लटकाने से अब क्या होगा!
    अब तो जीवन भर अपने वंश की आँख में अपने लिए घृणा देखकर जीने की
    आदत डाल लो
    फिर न कहना हमने बताया नहीं था!

    Advertisement

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,506FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -