Wednesday, November 30, 2022
More

    कथित एबीवीपी छात्रों का हंगामा, कॉलेज में फहराया भगवा झंडा, धारा 144 लागू

    Student hoists saffron flag in Shimoga, sparks row

    कर्नाटक में हिजाब विवाद अब खतरनाक मोड़ ले चुका है। हाईकोर्ट में इस विवाद पर सुनवाई चल रही है। कोर्ट ने कहा है कि वो तर्क और कानून के आधार पर ही फैसला करेगी। आज कर्नाटक के कई हिस्सों में स्थिति तनावपूर्ण बनी रही। कर्नाटक के शिगोमा ज़िले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कथित तौर पर तिरंगे की जगह भगवा झंडा लगाया गया है।

    वीडियो में एक व्यक्ति झंडे के पोल पर चढ़ा हुआ दिखाई दे रहा है। उसके हाथ में भगवा झंडा है। नीचे कुछ अन्य लोग खड़े हैं,जिन्हें कथित तौर पर एबीवीपी के छात्र बताए जा रहे हैं।

    दमन एंड दियू कॉंग्रेस सेवादल ने वीडियो ट्वीट कर कहा

    “देखिए एबीवीपी के छात्र कर्नाटक में कॉलेज की बिल्डिंग पर हमला कर रहे हैं ”

    पत्रकार इमरान  खान ने एक वीडियो ट्वीट कर कहा-
    “एमजीएम कॉलेज #उडुपी में छात्रों द्वारा #हिजाब समर्थक छात्रों के साथ गतिरोध के बाद दक्षिणपंथी संगठन द्वारा कथित तौर पर वितरित किए गए अपने #saffronturbans को इकट्ठा करने का दृश्य वायरल हो रहा है।”

    शिगोमा जिले में सुबह पत्थरबाजी की घटना हुई थी। इसके बाद से ही यहां पर धारा 144 लागू कर दी गई है। मंगलवार को हिंसा और झड़प के मामले सामने आने के बाद राज्य सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को तीन दिन बंद रखने का आदेश दिया है।

    आज कोर्ट में हिजाब मामले पर सुनवाई हो रही थी। लेकिन सुनवाई से पहले महात्मा गांधी मेमोरियल कॉलेज में प्रदर्शन शुरू हो गया। हिजाब पहनी छात्राओं के विरोध में भगवा शॉल डाले सैकड़ों छात्र नारेबाजी करने लगे। देखते ही देखते मामला बढ़ गया और प्रदर्शन तेज़ हो गया। दोनों ओर से धार्मिक नारे लगाए गए थे और पत्थरबाजी भी की गई।

    मामला को बढ़ता देख  भाजपा शासित राज्य कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। सीएम ने कहा- “मामला आज हाईकोर्ट में पेश किया जाएगा। उसका इंतजार करें और बच्चों को पढ़ने दिया जाए।”

    इससे पहले भी सीएम ने कहा था कि हाईकोर्ट का फैसला आने तक नए यूनिफार्म लॉ का पालन सख्ती से करवाया जाएगा।

    कर्नाटक के उडुपी में हिजाब विवाद मामले में आज हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। पांच लड़कियों ने हिजाब पहनने की आजादी के लिए याचिका दायर की थी। इन छात्राओं की ओर से नए यूनिफार्म लॉ का विरोध करते हुए याचिका दायर की गई थी। अब नए नियम के तहत कॉलेजों में हिजाब पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

    इससे पहले कर्नाटक के शिक्षा मंत्री बीसी नागेश ने कहा था कि समान वर्दी संहिता का पालन न करने वाली छात्राओं को अन्य विकल्प तलाशने की छूट है। नागेश ने मैसुरु में पत्रकारों से कहा था, ‘‘जैसे सेना में नियमों का पालन किया जाता है, वैसा ही यहां (शैक्षणिक संस्थानों में) भी किया जाता है। उन लोगों के लिए विकल्प खुले हैं जो इसका पालन नहीं करना चाहते।’’ मंत्री ने छात्रों से राजनीतिक दलों के हाथों का ‘‘हथियार’’ न बनने की अपील की।

    कर्नाटक के हिजाब मुद्दे पर पूर्व प्रधानमंत्री और जनता दल-सेक्युलर (जेडीएस) के अध्यक्ष एचडी देवेगौड़ा ने कहा कि कुछ ऐसे तत्व हैं जो छात्रों को गुमराह कर रहे हैं और राजनीतिक दल 2023 के चुनाव के लिए फायदा उठा रहे हैं। सरकार इसे रोक सकती है। इस तरह के मुद्दे देश को बांटते हैं।

    Advertisement
    Shruti Bhardwaj
    Journalist, who loves to write only Political news. Love Satire. Keen Observer and a good orator.

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,352FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -