Tuesday, July 5, 2022
More

    ‘मैं ज़िंदा लौट पाया’ , प्रधानमंत्री के व्यंग्यात्मक बयान के बाद तेज़ हुई राजनीति

    पंजाब के फिरोजपुर में आज पीएम मोदी की रैली होनी थी। लेकिन रैली आखिरी समय में रद्द कर दी गई। शुरुआती खबरों के मुताबिक खराब मौसम की वजह से रैली रद्द की गई। लेकिन अब इसके पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दिया जा रहा है।

    दरअसल करीब 20 मिनट तक पीएम मोदी का काफिला फ्लाईओवर पर फंसा रहा। प्रदर्शनकारी किसान फ्लाईओवर तक पहुंच गए और पीएम के काफिले के सामने प्रदर्शन करने लगे। सुरक्षा में हुई इस गंभीर चूक के बाद काफिले को वापस बठिंडा एयरपोर्ट की तरफ मोड़ लिया गया।
    गृह मंत्रालय ने पीएम मोदी की सुरक्षा में हुए इस गंभीर चूक का संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक वहां मौजूद अधिकारियों ने उन्हें बताया कि जब पीएम मोदी भटिंडा एयरपोर्ट पहुंचे तो उन्होंने वहां के अधिकारियों से कहा- “अपने सीएम को थैंक यू कहना कि मैं भठिंडा एयरपोर्ट तक जिंदा लौट पाया।

    पहली नजर में पीएम का इस तरह का बयान काफी गैर जिम्मेदाराना लगता है। इस तरह के व्यंगात्मक बयान से नरेंद्र मोदी पीएम पद की गरिमा को ठेस पहुंचा रहे हैं।
    स्टेटमेंट से ऐसा लग रहा है कि पीएम मोदी यह दिखाना चाह रहे हैं कि वो प्रदर्शनकारी किसान उन्हें जान से मारने आए थे।
    माना कि पीएम की सुरक्षा में पंजाब सरकार ने भारी कोताही बरती है। जिसकी जांच की जानी चाहिए।
    क्या इस तरह के बयान से वो यह दिखाना चाह रहे हैं कि उन्हें सिख किसानों से खतरा है। याद होगा कि कैसे पीएम मोदी ने मेघालय गवर्नर सत्यपाल मलिक को शहीद किसानों को लेकर क्या कहा था।
    मेरे लिए मरे हैं क्या

    इस तरह के बयान दिखाते हैं कि पीएम मोदी सिख किसानों को लेकर कितने संवेदनशील हैं।
    हालांकि विपक्ष ने इसे पीएम मोदी का पॉलिटिकल स्टंट करार दिया है विपक्ष के मुताबिक रैली में भीड़ नहीं होने के कारण पीएम मोदी ने बेइज्जती से बचने के लिए ऐसा किया है।

    वहीं पंजाब मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने माफ़ी मांगते हुए कहा कि उन्हें पीएम के बाय रोड जाने की जानकारी नहीं थी। सीएम चन्नी ने कहा कि वो खुद पीएम को भटिंडा लेने जाने वाले थे। लेकिन उनके करीबी सहयोगी कोविड पॉजिटिव हो गए। जिसकी वजह से वो पीएम को लेने नहीं जा सके। चन्नी के मुताबिक उन्होंने खराब मौसम और प्रोटेस्ट को लेकर पीएमओ को ना आने की हिदायत दी थी। अचानक से हुए रूट बदलाव की वजह से उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है।

    सीएम चन्नी ने एएनआई को कहा कि पीएम की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है।
    लेकिन इस बयान से सीएम चन्नी सुरक्षा चूक में हुई गलती से बच नहीं सकते। पंजाब सरकार को इस मामले की गंभीरता को समझते हुए उच्चस्तरीय जांच करानी चाहिए।
    वहीं सुरक्षा चूक मामले में फिरोजपुर और फरीदकोट के एसएसपी सस्पेंड किए गए।

    ट्विटर पर पत्रकार आदित्य मेनन ने इस मामले में पीएम को घेरते हुए कुछ सवाल किए हैं। पत्रकार मेनन ने सवाल किया है कि जब सरकार को पता था कि उनके खिलाफ प्रोटेस्ट हो रहा है तो चॉपर से उनकी यात्रा कैंसल होने के बाद उन्होंने बाय रोड जाना क्यूँ चुना?

    Advertisement
    Shruti Bhardwaj
    Journalist, who loves to write only Political news. Love Satire. Keen Observer and a good orator.

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,506FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -