Tuesday, July 5, 2022
More

    न्यूज़लॉन्डरी का आभार लेकिन आख़िर में उठाए संदेह का एक ही जवाब, महाज़िद्दी हूँ मैं

    फ़ेसबुक पर 8 लाख फ़ॉलोवर्स की बधाई आप सभी को। साथ में ये एक स्क्रीनशॉट शेअर कर रही हूँ।


    ये ईयर एंडर की तरह Newslaundry Hindi ने छापा है। सबसे पहले तो उनका बहुत बहुत आभार। हमारी क़ाबिलियत और क्षमताओं को पहचानकर जगह देने के लिए। लिंक भी शेअर कर रही हूँ। पढ़िएगा ज़रूर
    आख़िर में इन्होंने एक संदेह के साथ सवाल खड़ा किया है कि कब तक हम लोग ऐसे ही सवाल कर पाएँगे! कल को हम भी विज्ञापनों, लालाओं की चपेट में आएँगे और हमारी एडिटोरियल ताक़त कम होगी ।

    तो पहले तो जानकारी के लिए बता दूँ कि बहुत पहले से मुझे ऐसे ऐड के लिए अप्रोच किया जाने लगा, सेल्स के लोगों ने संपर्क बनाया जिनके पास वो सब बड़ी बड़ी कंपनियों के क्लाइंट हैं जिनके ऐड आप लोग गोदी मीडिया पर भी देखते हैं। ये सब लाला हैं , इन्हें सिर्फ अपना प्रोडक्ट बिकने से मतलब है। फिर चाहे वो नफ़रत से बेचा जाए या नफ़रत रोककर।

    लेकिन मैं अपने उसूलों की पक्की ठहरी। अब तक मना किया है आगे भी करूँगी। शुरुआत में जब पैसे की ज़रूरत होती है तब मदद नहीं ली तो अब क्या ही लूँगी जब सब बढ़िया चल रहा है और हम इतना ग्रो कर चुके हैं।
    कोई भी चुनाव हो या फ़ील्ड रिपोर्टिंग अपनी कमाई उसमें लगा देती हूँ सिर्फ सच आप तक पहुँचाने के लिए। डीएनडी पर होर्डिंग लगाकर चमकने का शौक़ है न बेइंतहा पैसा कमाने का। कितना भी प्रचार कर लें कोई , असली प्रचार आपके काम से होता है और वो हमें खुद महसूस होने लगा है। जब गाँव गाँव में लोग नाम से पहचान जाएँ और कहें आपकी फ़लाना खबर देखी थी, वो वीडियो देखा था, यानी हमारी टीम का काम सार्थक हुआ।

    ये बड़े बड़े ऐड और उसपर किए ख़र्चों से भी नहीं कमाया जा सकता।

    हमारी पहुँच बढ़ नहीं रही है बल्कि बढ़ चुकी है। गोदी मीडिया से लोगों के अंदर नफ़रत मैंने अपनी आँखों से देखी है, अब भी अगर वो नहीं सुधरा तो ये स्पेस लोग डिजिटल पत्रकारिता को दे ही चुके हैं, मेनस्टरीम मीडिया को कभी नहीं मिल पाएगी और वो सिर्फ़ गोदी मीडिया बनकर रह जाएगा। क्योंकि डिजिटल में अपनी रीच बढ़ाने की कोशिश इन सबकी है। कोई कई सारे तक खोल रहा है , लेकिन उनतक जो इनका बदनाम ब्रांड भी साथ साथ पहुँच रहा है वो तक इन्हें कहाँ तक और कब तक बचा पाएँगे?

    टीवी पर एंकरों द्वारा उगला हुआ ज़हर कोई तक नहीं कम कर पाएँगे याद रखें। पॉज़ीटिव न्यूज़ का चैनल और समोसा चटनी दिखाकर फिर भले ही आप कुछ दिन लोगों का ध्यान भटकाएँ , पर जनता धीरे धीरे सब समझ जाती है ।

    तो मेरा आश्वासन ले लीजिए। यही मेरी नीति पहले दिन से है, भले मैं पैसे कम कमाऊँ पर मैं अलग से विज्ञापन नहीं लूँगी। और किसी को इतना ही शौक़ है हमारी खबरों के बीच अपना प्रोडक्ट बेचने का तो एडिटोरियल दख़लंदाज़ी न करने की शर्त पर आना चाहता है तो आए, ताकि जिस तरह अभी कोई फ़र्क़ नहीं पड़ रहा तब भी कोई फ़र्क़ नहीं पड़ेगा

    मैं इसमें बहुत स्पष्ट हूँ। अपने फ़ॉलोवर्स से मैंने पहले ही ये वादा किया है और किसी को भी कभी निराश नहीं करूँगी।पैसे के मामले में ज़्यादा महत्वाकांक्षी नहीं हूँ इसलिए तो आज ये कर पा रही हूँ वरना तो आज भी ख़ुशी से मेनस्ट्रीम मीडिया में होती और देखिए मोदी
    जी आए, देखिए मोदी जी बैठे, देखिए मोदी जी ने दंडवत् किया , देखिए मोदी जी ने कसरत की जैसी एंकरिंग कर रही होती।

    तो अब तक बहुत लोग अप्रोच कर भी चुके हैं, मैं ही नहीं मानती, महाज़िद्दी हूँ मैं, इस बार अपने उसूलों और पत्रकारिता के लिए।
    आप सबको जय हिंद।

    Advertisement

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,506FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -