Friday, July 1, 2022
More

    अपनी पत्रकारिता से कमाल करने वाले NDTV के मशहूर पत्रकार कमाल खान नहीं रहे

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान (61) का आज निधन हो गया। उन्होंने लखनऊ स्थित अपने आवास में अंतिम सांस ली। कमाल खान का निधन हार्ट अटैक से हुआ, उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

    पत्रकार कमाल खान को जो असल ज़िंदगी में कमाल बनाती थी वह पीटीसी के शब्द, ठहराव, लाइव में अपनी बात रखने की कला और भारी भरकम शब्द को आसानी से समझाने का हुनर था।

    कमाल खान की शादी पत्रकार रुचि कुमार के साथ हुई थी। वह अपने परिवार के साथ लखनऊ के बटलर पैलेस स्थित सरकारी बंगले में रहते थे। कमाल ख़ान को बेहतरीन पत्रकारिता के लिए रामनाथ गोयनका अवॉर्ड मिला था, साथ ही राष्ट्रपति ने उन्हें गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार से भी सम्मानित किया था।

    जाते जाते भी “कमाल खान” अपने कर्तव्य पथ पर चल रहे थे और कल शाम NDTV इंडिया के लिए रिपोर्टिंग कर रहे थे। उनकी आख़िरी रिपोर्ट सुनेंगे तो समझ जाएँगे वो कितने संयमित पत्रकार थे।

    कमाल खान के निधन की ख़बर पर सभी ने शोक व्यक्त किया

    NDTV ने श्रद्धांजलि अर्पित करते लिखा है “तीन दशक से दिल छू लेने वाली ख़बरें करने वाले,
    हमारे चहेते कमाल खान,
    आज हम सबको अनंत शोक में छोड़ कर चले गए.
    यह हम सबके लिए गहरे शोक की घड़ी है”

    विनोद कापड़ी लिखते हैं, “और ये थी @kamalkhan_NDTV की आख़िरी रिपोर्ट
    7 मिनट सुन जाइए।उत्तरप्रदेश में बीजेपी नेताओं की भगदड़ पर इससे संतुलित, संयमित , सारगर्भित, निष्पक्ष विश्लेषण आपने कहीं नहीं सुना होगा और ना अब सुन पाएँगे।

    पत्रकारिता के छात्र ज़रूर ज़रूर देखें

    #RipKamalKhan”

    वरिष्ट पत्रिका और डेली साक्षी की एडिटर साक्षी जोशी ने लिखा:

    PTC (piece to camera)कैसे किया जाता है #KamaalKhan से सीखो
    शुरु से हम उनकी PTC ( वो हिस्सा जो रिपोर्टर खबर की शुरुआत, मध्य या अंत में कैमरा के सामने बोलता है) देखकर सीखने की कोशिश किया करते थे,पर हमेशा लगता था वही खूबी हासिल कर पाना नामुमकिन है
    यक़ीन नहीं हो रहा अब वो नहीं रहे 😞

    राजडीप सरदेसाई लिखते हैं “आज सुबह रिपोर्ट करने के लिए बहुत दुखद समाचार। लखनऊ से एनडीटीवी के बेहतरीन रिपोर्टर और प्रिय मित्र कमाल खान का आज सुबह निधन हो गया। मैं आपको बहुत याद करूंगा मेरे दोस्त और हमारी लंबी चैट। ढेर सारी यादें! ओम शांति।”

    NDTV के कमाल खान की मौत ने पत्रकारिता को और खराब कर दिया है, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कुछ समझदार आवाजों में से एक। उनके परिवार को इस त्रासदी से निपटने की शक्ति मिले। पत्रकारों के साथ साथ तमाम राजनेता भी कमाल खान के जाने का खेद व्यक्त कर रहे क्योंकि कठिन से कठिन सवाल “कमाल खान” संज़ीदगी भरे लहज़े में पूछ लिया करते थे।

    बीएसपी चीफ मायावती ने भी शोक व्यक्त किया, सपा, काँग्रेस ने भी श्रद्धांजलि दी है।

    अब शायद हम सबको एक मख़मली आवाज़ ” लखनऊ से कैमरामैन राकेश गुप्ता के साथ कमाल खान NDTV इंडिया ” कभी सुनाई नहीं देगी।

    Advertisement
    Ashish Viraj Shukla
    crazy about News ....😊

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,502FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -