Thursday, December 8, 2022
More

    कॉंग्रेस सरकार की नाकामी- कब मिलेगा अलवर की बेटी को न्याय, कहाँ हैं प्रियंका गांधी?

    वो न तो बोल सकती है न सुन सकती है। उसके साथ दरिंदगी हुई लेकिन फिर भी वो अपना दुःख जाहिर नहीं कर सकती।वो बस खामोश होकर सबकुछ सह रही है।रो-रोकर बस ये जता पा रही है कि उसे बहुत दर्द हो रहा है।लेकिन इस दर्द को बांटने वाला भी कोई नहीं है।डॉक्टर्स कहते हैं कि उसका घाव 25 दिन में भरना शुरू हो जाएगा।लेकिन वो अभी बेहोश है,लेकिन जैसे ही होश में आती है उसका दर्द और बढ़ जाता है।वो रोने लगती है,और अपने मां-बाप को ढूढ़ने लगती है।

    चौंकिए मत, हम मूक-बधिर और मानसिक विक्षिप्त समाज की बात नहीं कर रहे हैं। शायद ये समाज बेबस और लाचार है।बहुत लाचार…

    हम बात कर रहे हैं राजस्थान के अलवर में हुई दरिंदगी की। जिसका बलात्कार समाज के दरिंदों ने किया लेकिन इस समाज की पुलिस और सरकार इतनी बेबस और लाचार है कि उस दरिंदे को सजा भी नहीं दे सकती।
    राजस्थान के अलवर में 11 जनवरी को एक 16 साल की मूक-बधिर बच्ची के साथ निर्भया जैसी दरिंदगी होती है। उसके प्राइवेट पार्ट पर किसी नुकीली चीज से लगातार वार किया गया।रेप करने के बाद उन दरिंदों ने 16 साल की बच्ची को ओवरब्रीज पर फेंक दिया। पुलिस को जब बच्ची मिली तो उसकी हालत काफी खराब थी। उसके प्राईवेट पार्ट से लगातार खून निकल रहा था। पुलिस ने तुरंत बच्ची को अस्पताल भेजा, जहां 7 डॉक्टरों की टीम ने लगातार 3 घंटे तक ऑपरेशन करके बच्ची की जान बचाई।

    अलवर जिले की एसपी तेजस्वनी गौतम ने अपने बयान में कहा था कि पीड़िता के साथ सेक्शुअल असॉल्ट हुआ है।लेकिन बाद में पुलिस ने मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर रेप न होने की बात कही है। अपने बयान में एसपी तेजस्वनी ने कहा- “मौके पर पुलिस तुरंत वहां पहुंच गई थी।बच्ची को हमने आईसीयू में भर्ती कराया है। डॉक्टर्स ने बताया कि बच्ची मानसिक रूप से कमजोर है।उसके प्राइवेट पार्ट से बहुत खून आ रहा था।संभवतः यह सेक्शुअल असॉल्ट का मामला है।”

    अब सवाल यह है कि पहले पुलिस ने बच्ची के साथ रेप की पुष्टि की। लेकिन बाद में मुकर गई। पुलिस की ऐसी क्या मजबूरी रही कि उसने अपना दिया हुआ बयान ही बदल लिया।इस बात से नकारा नहीं जा सकता है कि अलवर पुलिस ने ढुलमुल रवैया अपनाया है।जब बच्ची के परिजन मिसिंग रिपोर्ट दर्ज कराने गए तो तुरंत रिपोर्ट दर्ज कर एक्शन क्यों नहीं लिया गया।

    अगर पुलिस ने तत्परता दिखाई होती तो शायद आज वो बच्ची दर्द से कराह नहीं रही होती।पुलिस ने करीब 300 सीसीटीवी फुटेज खंगाले हैं लेकिन अब तक कोई भी सुराग नहीं मिला है।बच्ची अपने घर से 25 किलोमीटर दूर मिलती है। और इस बीच 5-5 थाने आते हैं। लेकिन फिर भी किसी थाने को इस वीभत्सता के बारे में पता तक नहीं चलता।इसके बाद भी बड़ी बेशर्मी से पुलिस मेडिकल रिपोर्ट को आधार बनाकर कह देती है कि बच्ची से रेप हुआ ही नहीं।
    तो प्रशासन महोदय, क्यों आपकी एसपी मैडम ने पहले सेक्शुअल असॉल्ट की बात कही?
    कैसे एक 16 साल की मानसिक तौर पर बीमार बच्ची अपने घर से 25 किलोमीटर दूर खून से लथपथ ओवरब्रिज पर मिलती है?
    किसने और कैसे उस बच्ची को ओवरब्रिज पर फेंका?
    डॉक्टर्स की बात और मेडिकल रिपोर्ट अलग-अलग कैसे हो गई?

    अब इस मामले में राजनीति तेज हो गई है। भाजपा ने अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज कराते हुए कांग्रेस सरकार को जमकर घेरा है। भाजपा ने सीधे कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को घेरते हुए कहा कि लड़की हूं, लड़ सकती हूं क्या बस उत्तरप्रदेश तक ही सीमित रहेगी।कल प्रियंका गांधी ने पीड़िता के माता-पिता से बात कर न्याय का भरोसा दिलाया है।उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से पीड़िता को बेहतर ट्रीटमेंट और उचित न्याय दिलाने को कहा है।

    एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक रेप के मामले में राजस्थान नंबर 1 पर है।साल 2019 में रेप के 5997 मामले दर्ज हुए,यानी हर दिन 16 रेप केस दर्ज हुए।2020 में 5310 मामले यानी 15 रेप केस प्रतिदिन दर्ज हुए हैं।वहीं भाजपा की वसुंधरा सरकार के समय 4335 रेप दर्ज हुए मतलब 12 केस रोज दर्ज हुए हैं।

    लड़की हूं, लड़ सकती हूं का नारा देने वाली प्रियंका गांधी का रवैया इस मामले में काफी ढीला रहा है। इससे सीधा संदेश जाता है कि उन्हें अपनी सरकार की नाकामियां नहीं दिखती है। चुनाव की खातिर ही सही लेकिन यूपी के हाथरस और उन्नाव में जिस तरह से प्रियंका गांधी ने हिम्मत दिखाई थी, वही हिम्मत अपनी सरकार को दिखाने में नाकाम रही हैं। राजस्थान में जन्मदिन की पार्टी कर रही थी लेकिन इतना समय नहीं मिला कि पीड़िता की परिवार से मिले। भाजपा के आला नेताओं से उम्मीद की जाती है कि वो राजस्थान में पीड़ित परिवार से मिले। कांग्रेस सरकार पर दवाब बनाए ताकि जल्द से जल्द पीड़िता को न्याय मिले।

    Advertisement
    Shruti Bhardwaj
    Journalist, who loves to write only Political news. Love Satire. Keen Observer and a good orator.

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,347FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -