Sunday, October 2, 2022
More

    लखीमपुर खीरी केस में SIT का बड़ा खुलासा, जान बूझ कर रौंदा किसानो को

    लखीमपुर खीरी/ उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी तिकुनिया कांड में बड़ा खुलासा सामने आ गया है। एसआईटी (SIT) जांच टीम ने इसे हत्या की सोची समझी साजिश बताते हुए मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) जो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे हैं समेत सभी आरोपियों पर कई संगीन धाराएं बढ़ा दी हैं। इसमें धारा 307, 326 और 34 शामिल है। इसके साथ ही जांच टीम ने बढ़ाई गई धाराओं में आरोपियों की रिमांड लेने के लिए कोर्ट में अर्जी दी है।

    एसआईटी की विवेचना में पाया गया है कि जेल में बंद सभी आरोपियों ने धारा 307 (जानलेवा हमला) धारा 326 (अंग भंग करना) और धारा 34 (एक राय) का अपराध किया है।एसआईटी ने मुकदमें में धारा 34, 307 और 326 बढ़ा दी है. बढ़ाई गई धाराओं में आरोपियों की रिमांड लेने के लिए विवेचक ने सोमवार को कोर्ट में अर्जी दी है। इस अर्जी पर कोर्ट ने मंगलवार को आरोपियों को तलब किया है। एसआईटी ने विवेचना के दौरान यह भी पाया है कि आरोपियों पर धारा 304ए, 279और 338 का अपराध नहीं बनता है। एसआईटी ने मुकदमे से धारा 304ए, 338 और 279 को हटा दिया है।

    एसआईटी के मुख्य जांच अधिकारी विद्याराम दिवाकर ने साफ कर दिया है कि यह लापरवाही व उपेक्षापूर्वक गाड़ी चलाते हुए दुर्घटनावश मृत्यु का का मामला नहीं है। सोची समझी साजिश के चलते भीड़ को कुचलने, हत्या करने, हत्या की कोशिश के साथ ही अंग भंग करने की साजिश का मामला है। बता दें कि 3 अक्टूबर को हुई इस घटना में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हुई थी जिसमें एक पत्रकार भी शामिल है जो गाड़ी के टक्कर में अपनी जान गावा दी थी।

    देखिए वीडियो

    Video courtesy: TV9

    राहुल गाँधी ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी पर किया वार

    काँग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि अब वो एक बार फिर से देश से माफ़ी मांगे, उन्हों ने लिखा “मोदी जी, फिर से माफ़ी मांगने का टाइम आ गया है.. लेकिन पहले अभियुक्त के पिता को मंत्री पद से हटाओ। सच सामने हैं।”

    आप को याद दिलवा दे कि लखीमपुर खीरी तिकुनिया कांड में चार किसानो और एक पत्रकार की हत्या में मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा पर तीन महीने पहले 9 अक्टूबर को कई घंटों की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था और मुकदमा दर्ज हुआ था। जिसमें धारा 302, 304ए, 147, 148, 149, 279, 338 और 120बी लगी हुई थी. इन्हीं धाराओं में एसआईटी ने आशीष मिश्रा उर्फ मोनू, अंकित दास और सुमित जायसवाल समेत सभी आरोपियों को जेल भेजा था।

    यह वीडियो ज़रूर देखिए

    Advertisement
    Riaz Ahmed
    Trying to write the mind...

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,434FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -