Wednesday, November 30, 2022
More

    लखीमपुर खीरी: केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के “लाट साहब” के खिलाफ पुलिस ने दर्ज की 5000 पेज की चार्जशीट

    लखनऊ: किसानों पर दरिंदे की तरह गाड़ी चढ़ाने वाले केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के “लाट साहब” आशीष मिश्रा पर पुलिस ने करीब 5000 पेज की चार्जशीट दर्ज की है। इस चार्जशीट में पुलिस ने मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा को मुख्य आरोपी बताया है। चार्जशीट के मुताबिक आशीष मिश्रा घटनास्थल पर ही मौजूद था। साथ ही आशीष मिश्रा के संबंधी वीरेंद्र शुक्ला पर सबूत मिटाने का भी आरोप लगाया है।

    नियम के मुताबिक किसी भी घटना के 90 दिन के अंदर चार्जशीट दायर होनी चाहिए। तारीख को 90 दिन पूरे होने वाले थे और 6 जनवरी को कोर्ट में आशीष मिश्रा की ज़मानत पर सुनवाई भी होने वाली थी। लेकिन चार्जशीट दाखिल होने के बाद केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी और उनके बेटे आशीष मिश्रा की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

    देखने वाली बात यह होगी कि कोर्ट मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा पर क्या रुख अख्तियार करता है। घटना के दौरान आशीष मिश्रा अपनी एसयूवी थार में ही मौजूद था। वहीं उसका एक संबंधी वीरेंद्र शुक्ला भी अपनी स्कॉर्पियो में मौजूद था। बताया जा रहा है कि वीरेंद्र शुक्ला मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा का मामा है।

    आपको याद होगा 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में किसानों की एक शांतिपूर्ण रैली निकल रही थी। पीछे से आ रही मंत्री पुत्र की थार गाड़ी बड़ी बेरहमी से किसानों को कुचलते हुए आगे बढ़ गई। इस घटना में 4 किसानों की मौत हो गई । और उसके बाद की हिंसा में तीन नेता और एक पत्रकार की भी हत्या कर दी गई।
    केंद्रीय गृह मंत्री शुरू से ही अपने बेटे को बचाते हुए दिख रहे हैं। उनका कहना है कि घटना के वक्त उनका बेटा वहाँ नहीं था बल्कि उनके साथ एक कार्यक्रम में मौजूद था। बता दें कि इस मामले में 14 अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया है। भाजपा नेताओं की तरफ से घटनास्थल पर किसी भी प्रकार की फायरिंग नहीं होने की बात की जा रही थी। लेकिन चार्जशीट से यह बात साफ हो गई कि फायरिंग मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा की पिस्तौल से ही हुई थी। जिसके बाद एक बार फिर भाजपा नेताओं का झूठ सामने आ गया।

    आपको बता दें कि इससे पहले एसआईटी ने भी अपनी जांच में आशीष मिश्रा को घटना का मुख्य आरोपी बताया था। अपनी जांच में एसआईटी ने कोर्ट की धाराओं को बढ़ाने का अनुरोध भी किया था। एसआईटी के मुताबिक घटनास्थल और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की मदद से जो जानकारी मिली थी, उससे यह साफ हो जाता है कि आशीष मिश्रा ने किसानों को जानबूझकर कुचला था।

    कॉंग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि “5000 पेज वाली चार्जशीट का सच पूरे देश ने वीडियो के रूप में देखा है। लेकिन फिर भी मोदी सरकार आरोपियों को बचाने में लगी हुई है। भारत गवाह है! “

    Advertisement
    Shruti Bhardwaj
    Journalist, who loves to write only Political news. Love Satire. Keen Observer and a good orator.

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,351FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -