Tuesday, July 5, 2022
More

    गुजरात में वीएचपी और बजरंगदल के ऐलान से परेशान हैं मुस्लिम ढाबा मालिक

    Hindu Right organization Threaten Gujarat Bus Operators not to Stop at Muslim-Owned Dhabas

    गुजरात में समुदायों के बीच बढ़ती ही जा रही है। एक बार फिर विशेष समुदाय के लोगों को टार्गेट किया जा रहा है। अंतर्राष्ट्रीय विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल द्वारा एक नया फरमान जारी करने के बाद गुजरात हाईवे फूड स्टॉल के मालिक परेशान हैं, जिसमें “कट्टर हिंदुओं” से कहा गया है कि वे ये बताए कि क्या वे राजमार्गों पर मुस्लिम मालिकों वाले ढाबों पर नाश्ते के लिए किसी भी बस को रोकते हैं।

    व्हाट्सएप ग्रुप और अन्य सोशल मीडिया पर फेल रहे एक वीडियो में यह कहते हुए देखा जा सकता है कि भगवा दुपट्टे और टीका के साथ एक आदमी ने वीडियो में कहा की, “आइए हम सबसे पहले सौराष्ट्र-सूरत मार्ग से शुरू करते हैं।”

    गुरुवार को सौराष्ट्र में हाईवे पर एक मुस्लिम ढाबे के मालिक ने कहा कि एक बस हमेशा की तरह रुकी, लेकिन फिर तीन यात्रियों ने भोजनालय की तस्वीरें लेना शुरू कर दिया. “मेरे भोजनालय का एक हिंदू नाम है। हम मांसाहारी भोजन नहीं करते हैं। हम अंडे या अंडे वाले उत्पाद भी नहीं परोसते हैं। मेरे किसी भी कर्मचारी की दाढ़ी नहीं है। संक्षेप में, हम बहुत उदार मुसलमान हैं जो हमारे धर्म को हमारी आस्तीन पर नहीं पहनते हैं।

    मेरे ढाबे का नाम एक स्थानीय हिंदू देवी पर आधारित है। मेरे ढाबे पर हर दिन कम से कम 11 बसें रुकती हैं। लेकिन आज एक भी बस नहीं रुकी। बस का ड्राइवर मेरा दोस्त है और हम उसे एक कमीशन देते हैं। आज अचानक से पता नहीं कैसे उस बस में बैठे लोगों को पता चल गया कि है ढाबा एक मुस्लिम द्वारा चलाया जाता है जिसके बाद उन्होंने यहां खाना खाने से मना कर दिया और मेरे दोस्त और बस के ड्राइवर से कहा कि वह एक हिंदू होटल के यहाँ ले जाए।

    हालात ऐसे हैं कि “मुस्लिम ढाबे का मालिक अपने रेस्तरां का नाम और स्थान बताने से डर रहा है । भावनगर, अमरेली और जूनागढ़ के पास दो अलग-अलग ढाबे का भी यही हाल है। गुजरात हाईवे के अधिकांश रेस्तरां मुस्लिम समुदाय के ही लोग चलाते आ रहे हैं। वे केवल शाकाहारी भोजन परोसते हैं और उनके रेस्तरां के नाम में ‘भारत’, ‘नवभारत’, ‘नवगुजरात’, ‘तुलसी’, ‘कबीर’, ‘जयहिंद’, ‘सर्वोदय’ जैसे शामिल हैं।

    संघ परिवार की एक शाखा ने इस चेतावनी को सोशल मीडिया और स्थानीय मीडिया सहित अलग अलग व्हाट्सएप ग्रुप पर पोस्ट किया है।

    इस घटना की अधिकारिक पुष्टि करते हुए संगठन एक नोटिस जारी किया है । अंतर्राष्ट्रीय वीएचपी की सूरत यूनिट के सचिव राजू शेवाले ने वाइब्स ऑफ़ इंडिया से कहा, “गुजरात में लोग किशन भरवाड़ की हत्या के बाद मुसलमानों से नाराज़ हैं । मुस्लिम मौलवी एक बड़ी साजिश के तहत हिंदुओं को मारने के लिए हथियार जुटा रहे हैं और गुजरात के लोग इसे देख सकते हैं।

    शेवाले ने दावा किया कि मुसलमानों द्वारा चलाए जाने वाले हाईवे रेस्तरां में शाकाहारी और मांसाहारी खाना पकाने के लिए एक ही बर्तन का उपयोग किया जाता है और “इतना ही नहीं हमारे पास रिपोर्ट है कि वे लोगों को परोसने से पहले शाकाहारी खाद्य पदार्थों में थूकते हैं”।

    संगठन ने यह भी आरोप लगाया है कि बस वाले जानबूझकर वहां के मुस्लिम ढाबों पर रुकते हैं ताकि उन्हें ज्यादा से ज्यादा कमीशन मिल सके।

    इतना ही नहीं वीएचपी और बजरंग दल ने इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया के हर प्लेटफार्म से शेयर करके ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की कोशिश भी की है।

    अंतरराष्ट्रीय बजरंग दल के उच्च अधिकारी राजू शेवाले और ओमप्रकाश शाह के पोस्टर और वीडियो की ओर डीजीपी का ध्यान खींचा है। जिसके बाद ये उम्मीद की जा सकती है कि शायद इस घटना पर कोई कार्रवाई हो।

    Advertisement
    Shruti Bhardwaj
    Journalist, who loves to write only Political news. Love Satire. Keen Observer and a good orator.

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,506FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -