Friday, July 1, 2022
More

    पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए चरणजीत सिंह चन्नी कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे: राहुल गांधी

     

    कॉंग्रेस ने पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी को अपना मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाया है, राहुल गांधी ने आज लुधियाना में इसकी घोषणा की। लुधियाना में वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित किया है। वर्चुअल रैली कॉंग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि ये उनका नहीं पंजाब के लोगों ने फैसला है। एक बार फिर कॉंग्रेस हाईकमान ने चरणजीत सिंह चन्नी पर अपना भरोसा जताया है। बता दें कि सीएम पद की रेस में चरणजीत सिंह चन्नी और कॉंग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू आगे चल रहे थे। लेकिन कॉंग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया है।

    बता दें कॉंग्रेस पार्टी के सर्वे में चन्नी सबसे आगे चल रहे थे। शक्ति ऐप के जरिए कांग्रेस ने प्रत्याशियों, कार्यकर्ताओं, सांसदों और विधायकों से राय जानने की कोशिश की थी। पार्टी की तरफ से आम जनता को भी फोन कर के उनकी राय ली गई थी। यह काम ऑटोमेटेड कॉल सिस्टम के जरिए किया जा रहा था।

     

    पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने किसान आंदोलन के दौरान किसानों की मौत को लेकर बीजेपी,अकाली दल और आम आदमी पार्टी पर भी बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा- “700 शहीद किसानों ने पंजाब की भलाई के लिए लड़ाई लड़ी, बीजेपी जिम्मेदार है जो इन काले कृषि कानूनों को लाई, अकाली जिम्मेदार है जो उनके साथ खड़ा था और आप ने इन कानूनों को अधिसूचित किया था। मैं सभी को धन्यवाद देता हूं। यह एक बड़ी लड़ाई है जिसे मैं अकेला नहीं लड़ सकता। मेरे पास पैसे नहीं हैं, लड़ने की हिम्मत नहीं है। पंजाब के लोग इस लड़ाई को लड़ेंगे।”

    चरणजीत सिंह चन्नी ने इस बार 2 सीट से चुनाव लड़ने वाले हैं। सीएम चन्नी भदौर और चमकौर साहिब से चुनाव लड़ने वाले हैं। चन्नी के लिए भदौर की लड़ाई बेहद मुश्किल साबित होने वाली है। इस सीट पर आम आदमी पार्टी बेहद मजबूत है। 2017 में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार को भदौर से करीब 57 हजार वोट मिले थे। कांग्रेस पार्टी का उम्मीदवार 26 हजार वोट के साथ तीसरे नंबर पर रहा था। भदौर के अलावा चरणजीत सिंह चन्नी अपनी होम सीट चमकौर साहिब से भी चुनाव लड़ रहे हैं।

    मात्र 5 महीनों में सीएम चन्नी ने जनहित में कई ऐसे फैसले लिए हैं जो पिछली सरकार लेने से डरती रही। 1,168 करोड़ बकाया पानी का बिल माफ़ करके सीएम चन्नी ने सबको चौका दिया। दिसम्बर महीने में सीएम चन्नी मात्र 74 दिन में आमजन से जुड़े 60 अहम फैसले लिए। प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीएम चन्नी डेढ़ महीने का लेखा जोखा मीडिया के सामने रखा। उन्होंने कहा- “मैं जमीन पर रहकर, लोगों के साथ रहकर लोगों का विश्वास जीत रहा हूं। 1 नवंबर से बिजली की दरों में 3 रुपये की कमी करना, पीपीए को समाप्त करना, गांवों के लाल डोरा में रहने वाले लोगों को स्वामित्व का अधिकार देना, ग्रामीण जलापूर्ति के 1,168 करोड़ रुपये के लंबित पानी के बिलों को माफ करना और पानी की दरों को 50 रुपये तक कम करना, सभी वादे दिया।” सीएम चन्नी ने अपने 5 महीने के कार्यकाल में ही रेत माफियाओं के खिलाफ एक्शन शुरू कर दिया। उन्होंने पंजाब में रेत की कीमत 5.50 रुपए प्रति फुट कर दी। पहले 16 रुपए तक रेत मिलता था जबकि सरकारी रेट 9 रुपए थे। लेकिन सीएम चन्नी ने कीमत बदल कर 5.50 रुपये कर दिया।

    इसके अलावा ईंट-भट्‌ठों को अब माइनिंग पॉलिसी से बाहर कर दिया गया है। वहीं, पंजाब में 36 हजार कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने पर मुहर लगा दी गई है।

    Advertisement
    Shruti Bhardwaj
    Journalist, who loves to write only Political news. Love Satire. Keen Observer and a good orator.

    संबंधित खबरें

    Conntect with Us

    898,779FansLike
    5,502FollowersFollow
    605,819SubscribersSubscribe
    - Advertisement -